मंगलवार 17 सितम्बर 2019                   आज का शब्द – AUTHORISED | प्राधिकृत
GO
en-US|hi-IN

त्वरित लिंक

श्री राजीव रंजन मिश्र का संक्षिप्त परिचय


श्री राजीव रंजन मिश्र

श्री राजीव रंजन मिश्र ने वेस्‍टर्न कोलफील्‍ड्स लिमिटेड में अध्‍यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक के रूप में दिनांक 11 अक्‍टूबर 2014 को पदभार ग्रहण किया । इसके पूर्व वे सेन्‍ट्रल कोलफील्‍ड्स लिमिटेड में निदेशक (कार्मिक) एवं सेंट्रल माइन प्‍लानिंग एवं डिजाइन इंस्टिट्यूट लिमिटेड (सीएमपीडीआईएल), रॉंची में कार्मिक एवं प्रशासन के विभागाध्‍यक्ष के रूप में कार्यरत रहे । उन्‍होंने कोल इण्डिया लिमिटेड की विभिन्‍न अनुषंगियों में भिन्‍न-भिन्‍न हैसियत से कार्मिक, मानव संसाधन विकास इत्‍यादि के क्षेत्र में 30 वर्षों से अधिक की सेवा दी है । भूविज्ञान में मास्‍टर डिग्री धारक एवं कार्मिक प्रबंधन एवं औद्योगिक संबंध में स्‍नात्‍कोत्‍तर डिप्‍लोमा करने के बाद श्री मिश्र ने तीन दशक पहले सीएमपीडीआईएल में अपने कैरियर की शुरूआत की । श्री मिश्र एनसीएल, सिंगरौली, कोल इंडिया लिमिटेड, कोलकाता, इस्‍टर्न कोलफील्‍ड्स लिमिटेड, सैंक्‍टोरिया एवं पुन: सीएमपीडीआईएल, रॉंची में सीसीएल में निदेशक(कार्मिक) के रूप में पदभार ग्रहण करने से पूर्व कार्य कर चुके थे ।

श्री मिश्र ने आईआईसीएम, रॉंची एवं चीन कोल इंफॉरमेशन इंस्‍टीट्यूट द्वारा वर्ष 2011 में संयुक्‍त रूप से आयोजित चीन में एडभांस मैनेजमेंट प्रोग्राम में भाग लिया है और आईआईपीए, नई दिल्‍ली द्वारा संचालित कार्यक्रम में वर्ष 2014 में फ्रांस और चीन गये ।

श्री मिश्र को बंगलोर में आयोजित एसिया पैसिफिक एचआरएम कांग्रेस में लगातार दो वर्षों - 2012 एवं 2013 के लिए "आईएमई एचआर लीडरशिप अवार्ड", "भारत का मोस्‍ट पावफुल एचआर प्रोफेशनल" का अवार्ड मिला । इन्‍हें द्वितीय इंडियन ह्यूमन कैपिटल समिट-2012, नई दिल्‍ली में "एचआर लीडरशिप अवार्ड" और मुम्‍बई में वर्ल्‍ड एचआरडी कांग्रेस-2013 में "30 मोस्‍ट टेलेंटेड एचआर लीडर्स इन पीएसयू अवार्ड" से नवाजा गया है । इन्‍हें भारतीय राजभाषा विकास संस्‍थान द्वारा 2012 एवं 2013 में राजभाषा के प्रभावशाली क्रियान्‍वयन के लिए राजभाषा कृति सम्‍मान से भी सम्‍मानित किया गया है । सेंट्रल कोलफील्‍ड्स लिमिटेड में सीसीएल के निदेशक (कार्मिक) के रूप में उनके कार्यकाल के दौरान कॉरपोरेट सीएसआर कंक्‍लेव-2012, रॉंची में सीसीएल को " सीएसआर में स्‍वास्‍थ्‍य व शिक्षा के लिए उत्‍तम कंपनी " का अवार्ड दिया गया है । 01 नवम्‍बर 2012 को कोलकाता में आयोजित स्‍थापना दिवस समारोह में कोल इण्डिया की अनुषंगियों में सीसीएल को "प्रथम पुरस्‍कार" और वर्ल्‍ड सीएसआर कांग्रेस, मुम्‍बई में "आईपीई सीएसआर कॉरपोरेट गवर्नेंस अवार्ड-2012 भी दिया गया है । इन्‍हें वर्ल्‍ड एचआरडी कांग्रेस, मुम्‍बई-2014 में "ग्‍लोबल एचआर एक्‍सलेंस अवार्ड" भी दिया गया है । श्री मिश्र को दिल्‍ली में ब्‍यूरोक्रेसी टूडे द्वारा मानव संसाधन प्रबंधन में बीटी-स्‍टार पीएसयू अवार्ड फॉर एक्‍सलेंस तथा 2015 के दौरान मुम्‍बई में आर.के. एचआईभी एड्स रिसर्च एवं केयर सेंटर द्वारा "एक्‍सीलेंट एउमिनिस्‍ट्रेटर कोल माइन इन इंडिया" से भी सम्‍मानित किया गया है ।

श्री मिश्र अपनी टीम निर्माण क्षमताओं और पारिस्थितिक प्रबंधन कौशल के लिए भी जाने जाते हैं । उन्‍होंने भारत और विदेशों में काफी यात्रा की है और वे कई व्‍यावसायिक संगठनों से भी जुड़े हुए हैं । वे एक्‍सक्‍यूटिव बॉडी ऑफ स्‍टैंडिंग कॉफ्रेरेंस ऑफ पब्लिक इंटरप्राइजेज (स्‍कोप) के सदस्‍य हैं तथा वेस्‍टर्न रिजनल चेप्‍टर ऑफ स्‍कोप के अध्‍यक्ष हैं । वे कॉफेडरेशन ऑफ इंडियन इंडस्‍ट्रीज, नई दिल्‍ली - कॉसिल ऑन पीएसई के सदस्‍य हैं तथा भारतीय कोल प्रबंधन संस्‍थान (आईआईसीएम) रॉंची के बोर्ड ऑफ गर्वनर्स के सदस्‍य भी हैं । वे नेशनल ए‍सोसियेशन फॉर द ब्‍लाइंड, नागपुर जिला ब्रांच, नागपुर के संरक्षक भी हैं । उनके कुशल नेतृत्व में डब्‍ल्‍युसीएल अपने संचालन में बदलाव के प्रतिमान स्थापित करने के लिए अग्रसर है ।